वॉशिंगटन: अमेरिका दौरे के दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने QUAD सम्मेलन में हिस्सा लिया. पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन के दौरान इस बात पर जोर दिया कि QUAD देशों को हिंद-प्रशांत क्षेत्र में साथ मिलकर काम करना होगा. उनकी नजरों में QUAD का उदेश्य ही ये है कि सभी साथ मिलकर दुनिया में शांति स्थापित करें, इसे समृद्धि की ओर ले जाएं. पहली फिजिकल क्वाड समिट को ऐतिहासिक बताते हुए पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन को धन्यवाद दिया.

अपने शुरुआती संबोधन में पीएम नरेंद्र मोदी ने QUAD का उदेश्य समझाते हुए कहा कि सबसे पहले साल 2004 के बाद QUAD देश एकजुट हुए थे. तब सुनामी से निपटने के लिए हर तरह की मदद की गई थी. अब जब पूरी दुनिया कोरोना से लड़ रही है तब फिर दुनिया की भलाई के लिए QUAD सक्रिय हुआ है. पीएम मोदी ने कहा, हमारी क्वाड वैक्सीन पहल से इंडो-पैसिफिक देशों को मदद मिलेगी. क्वाड ने हमारे साझा लोकतांत्रिक मूल्यों के आधार पर सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ आगे बढ़ने का फैसला किया. मुझे अपने दोस्तों के साथ चर्चा करने में खुशी होगी-चाहे वह आपूर्ति श्रृंखला, वैश्विक सुरक्षा, जलवायु कार्रवाई, COVID प्रतिक्रिया या तकनीकी सहयोग हो.

पीएम मोदी ने कहा, विश्व कोविड महामारी का सामना कर रहा है तो हम एक बार फिर क्वाड के रूप में एक साथ मिलकर मानवता के हित में जुटे हैं. हमारा क्वाड एक तरह से फोर्स फॉर ग्लोबल गुड की भूमिका में काम करेगा. वहीं यूएस के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा, वैश्विक आपूर्ति को बढ़ावा देने के लिए भारत में वैक्सीन की अतिरिक्त 1 बिलियन डोज के उत्पादन की हमारी पहल ट्रैक पर है.

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Coronavirus Stats

Confirmed cases: 1,24,85,509 Recovered: 1,16,29,289 Deaths: 1,64,623